यूनिकोड का इतिहास

कम्प्युटर के खोज के कई वर्षों के बाद यूनिकोड का निर्माण किया गया था। जब कम्प्युटर का निर्माण किया गया, तो उसके निर्माता या विकास करने वाले सभी मुख्य रूप से रोमन लिपि ही जानते थे और अंग्रेज़ी भाषा या अन्य रोमन लिपि में लिखे जाने वाले भाषा ही जानते थे। इस कारण उन लोगों ने अन्य भाषा के समर्थन हेतु कोई कार्य ही नहीं किया। वे चाहते थे कि उनके बोले जाने वाले भाषा का विकास हो और इसे अंतरराष्ट्रीय भाषा बनाया जा सके। तब अंग्रेज़ी का इतना अधिक विकास नहीं हुआ था। लेकिन कम्प्युटर के उपयोगी होते होते इसका प्रसार अधिक होने लगा। लेकिन अन्य भाषाओं का विनाश भी होने लगा था।
कई लोग जो अपने भाषा और लिपि से प्यार करते थे, उन लोगों ने यूनिकोड का निर्माण किया। इसके द्वारा कम्प्युटर में अन्य लिपि और भाषा का उपयोग किया जा सकता था। यह खोज अन्य सभी भाषाओं के लिए एक प्रकार से वरदान ही है। लेकिन कई लोग आज भी अपने सॉफ्टवेयर में यूनिकोड की सुविधा नहीं देते हैं।

Comments